Chhath Nahay Khay

Date - 12 November 2018

Sunday

Chhath Kharna

Date - 12 October 2018

Monday

Chhath Sandhya Argh

Date - 13 November 2018

Chhath Evening Argh Time - 5:28 PM
Tuesday, November 13, 2018 (IST)

Sunset in Swami Dayanand Enclave, Burari, Delhi

Chhath Morning Argh

Date - 14 November 2018

Chhath Morning Argh Time - 6:43 AM
Wednesday,November 14, 2018 (IST)
Sunrise in Swami Dayanand Enclave, Burari, Delhi

15 August Independence day

 

15 August 2017 (Independence day-स्वतंत्रता दिवस )

प्रत्येक वर्ष भारत में 15 अगस्त को स्वन्त्रता दिवस के रुप में मनाया जाता है। भारतीय लोगो के लिए  ये दिन बहुत ही  महत्वपूर्ण होता है।कई  वर्षों के शासन के बाद ब्रिटिश शासन से इसी दिन भारत को आजादी मिली। 15 अग्स्त 1947 को ब्रिटिश साम्राज्य से देश की स्वतंत्रता को सम्मान देने के लिये पूरे भारत में राष्ट्रीय और राजपत्रित अवकाश के रुप में इस दिन को घोषित किया 15 अगस्त 1947 के दिन भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने, दिल्ली में लाल किले के लाहौरी गेट के ऊपर तिरंगा फहराया था। महात्मा गाँधी के नेतृत्व में भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में लोगों ने काफी हद तक अहिंसक प्रतिरोध और सविनय अवज्ञा आंदोलनों में हिस्सा लिया।  

 

स्वतंत्रा दिवस के संदेश

जब आँखे खुले तो धरती हिन्दुस्तान की हो ,
जब आँखे बंद हो तो यादे हिन्दुस्तान की हो ,
हम मर भी जाए तो कोई गम नहीं लेकिन ,
मरते वक्त मिट्टी  हिन्दुस्तान की हो ,

ये बात हवाओ को बताये रखना ,
रोशनी होगी लेकिन चिरागो को जलाये रखना ,
लहू देकर की हिफाजत जिसकी ,
ऐसे तिरंगे को सदा अपने दिल में बसाये रखना ,

तहे दिल से धन्यवाद करते है ,
चलो आज फिर आजादी के उन लम्हो को याद करते है ,
कुर्बान हुए  थे जो वीर ,
जंवा भारत देश के लिए ,
उनके जज्बे और वीरता को ,
चलो आज प्रणाम करते है ,

वतन हमारा ऐसा है न छोड़ पाए कोई ,
रिश्ता हमारा ऐसा न तोड़ पाए कोई ,
दिल हमारे एक है एक है हमारी जान ,
हिंदुस्तान हमारा है हम है इसकी शान ,

कुछ हाथ से उसके फिसल गया ,
वह पलक झपक कर निकल गया ,
फिर लाश बिछ गई लाखों की ,
सब पलक झपकते बदल गया ,
जब रिश्ते राख में बदल गए ,
इंसानो का दिल दहल गया ,
मैं पूछ -पूछ कर हार गया ,
क्यों मेरा भारत बदल गया,

आजादी की कभी शाम न होने दे ,
शहीदों की कुर्बानी बदनाम न होने दे ,
बची है लहू की एक बूँद भी रगो में ,
तब तक भारत माता का आँचल नीलम न होने दे ,

चलो फिर से खुद को जगाते है ,
अनुशासन का डंडा फिर घुमाते है ,
सुनहरा रंग है स्वतंत्रा का शहीदों के खून से ,
ऐसे शहीदों को हम सब सर झुकाते है ,

स्वतंत्रा दिवस के गाने
 In Hindi

सारे जहां से अच्छा हिंदुस्ता हमारा
सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा
 हम बुलबुलें हैं इसकी ये गुलिस्तां हमारा
ग़ुर्बत में हों अगर हम, रहता है दिल वतन में
समझो वहीं हमें भी दिल है जहाँ हमारा
परबत वह सबसे ऊँचा, हम्साया आसमाँ का
 वह संतरी हमारा, वह पासबाँ हमारा
गोदी में खेलती हैं इसकी हज़ारों नदियाँ
गुल्शन है जिनके दम से रश्क-ए-जनाँ हमारा
ऐ आब-ए-रूद-ए-गंगा! वह दिन हैं याद तुझको
उतरा तेरे किनारे जब कारवाँ हमारा
 मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना
हिन्दी हैं हम, वतन है हिन्दोस्तां हमारा
यूनान-ओ-मिस्र-ओ-रूमा सब मिट गए जहाँ से
अब तक मगर है बाक़ी नाम-ओ-निशाँ हमारा
 कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी
सदियों रहा है दुश्मन दौर-ए-ज़माँ हमारा

 इक़्बाल! कोई महरम अपना नहीं जहाँ में
 मालूम क्या किसी को दर्द-ए-निहाँ हमारा
  सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा |


ऐ मेरे वतन के लोगों
ऐ मेरे वतन के लोगों..
तुम खूब लगा लो नारा
ये शुभ दिन है हम सब का
 लहरा लो तिरंगा प्यारा
पर मत भूलो सीमा पर
 वीरों ने है प्राण गँवाए
कुछ याद उन्हें भी कर लो
जो लौट के घर न आए
ऐ मेरे वतन के लोगों
 ज़रा आँख में भर लो पानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
 ज़रा याद करो क़ुरबानी
जब घायल हुआ हिमालय
 खतरे में पड़ी आज़ादी
जब तक थी साँस लड़े वो
 फिर अपनी लाश बिछा दी
संगीन पे धर कर माथा
 सो गये अमर बलिदानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी
जब देश में थी दीवाली
वो खेल रहे थे होली
जब हम बैठे थे घरों में
वो झेल रहे थे गोली
थे धन्य जवान वो अपने
थी धन्य वो उनकी जवानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी
कोई सिख कोई जाट मराठा
कोई गुरखा कोई मदरासी
 सरहद पर मरनेवाला
 हर वीर था भारतवासी
जो खून गिरा पर्वत पर
वो खून था हिंदुस्तानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी
थी खून से लथ-पथ काया
 फिर भी बन्दूक उठाके
दस-दस को एक ने मारा
 फिर गिर गये होश गँवा के
 जब अन्त-समय आया तो
कह गए के अब मरते हैं
 खुश रहना देश के प्यारों
अब हम तो सफ़र करते हैं
क्या लोग थे वो दीवाने
क्या लोग थे वो अभिमानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी
तुम भूल न जाओ उनको
इस लिये कही ये कहानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी
जय हिन्द जय हिन्द जय हिन्द की सेना,

Click Here

 

About Us

Chhathpuja.co is online portal for all chhath varti and devotees who have faith in this festival of Bihar, India.

Connet With Us